EMI Full Form-Equated Monthly Instalment in hindi

0
10
EMI Full Form एक ऐसा word जिसे शायद बहोत सारे लोग ना जानते हों लेकिन जिसने भी कभी न कभी कोई product finance पर purchase किया हो वो इस word से भलीभांति परिचित होंगे।

EMI Full Form-Equated Monthly Instalment, full form of emi, what is the full form of emi, emi,

अगर आपने emi के बारे में पहले कभी नहीं सुना है तो ये लेख आपके लिए बहोत ही important है और अगर आप emi के बारे जानते हैं तो इस आर्टिकल में आपको बहोत सारी details मिलेंगी जो शायद अपने पहले नहीं सुनी होगी।

तो चलिए सबसे पहले जान लेते हैं कि EMI का Full Form क्या है।
What is the full form of emi ?

EMI Full Form – Equated Monthly Installment

Equated Monthly Installment का हिंदी में अर्थ होता है एकसमान मासिक क़िस्त

What is emi – EMI Full Form

EMI को सबसे आसान शब्दों में इस तरह समझ जा सकता है कि किसी प्रकार के loan लेने या फिर किसी तरह का product खरीदने पर उसका payment monthly installment ( मासिक क़िस्त) में दिया जाए ,EMI कहलाता है।

हालांकि EMI के लिए हमे कुछ ब्याज़ (interest) भी देना पड़ता है।

Current time की बात करें तो कुछ emi ऐसी भी हैं जिनपर interest नही लगता है but उसकी कुछ conditions होती हैं जिसे हम आगे समझेंगे।

EMI और EMI Full Form के बारे में  आप समझ ही गए होंगे। अब इसकी working process को समझते हैं कि emi काम कैसे करती है।

How EMI Works – EMI Full Form

EMI की कार्यशैली को एक example के साथ समझेंगे जिसको समझने के लिए कुछ points को समझना बहोत ही आवश्यक है,
1. Customer ( ग्राहक)
2. Company ( जहाँ से हम product purchase करते हैं।
3. Bank या फिर Loan देने वाली finance company जहां से loan पास होगा।

मान लेते हैं कि कोई customer एक product खरीदने किसी कंपनी के स्टोर पर गया है और वो उस सामान को EMI पर लेना चाहता है तो इस condition में customer और company के बीच में एक finance कंपनी जैसे bajaj financerv या फिर कोई एक bank काम करती है जहाँ से उस कस्टमर को अपने प्रोडक्ट के लिए emi पर loan मिलता है।

नोट: यहाँ पर company और bank की आपस में partnership होती है।

अब यहाँ पर bank ये काम करती है कि customer का जितना loan amount होता है उतना amount बैंक company को pay कर देती है जहाँ से कस्टमर product खरीदता है फिर बैंक customer से monthly basis पर emi के तहत payment लेती है जिसके साथ कुछ interest part भी लगता है जिसे customer को बैंक को monthly emi के साथ pay करना होता है।

ये intrest part और बैंक के साथ जो कंपनी का agreement होता है वही bank की income होती है।

Types OF EMI – EMI के प्रकार

सामान्यतः EMI दो प्रकार की होती है,

  1. Banking EMI
  2. Brand EMI

Banking EMI क्या है ( EMI FULL FORM )

EMI Full Form-Equated Monthly Instalment, full form of emi, what is the full form of emi, emi
बैंकिंग EMI को हम आमतौर पर Normal EMI के नाम से भी जानते हैं इस प्रकार के एमी साधारणतया 2 तरीको से होती हैं
Paper Finance On EMI ( EMI FULL FORM )
इस तरह की EMI में customer किसी भी तरह के प्रोडक्ट के लिए EMI पर loan ले सकता है जिसमें auto Loan, Two wheeler loan, gold loan, home Loan, Consumer Durable loan, business Loan आदि इस तरह के Loan शामिल हैं।
Basically इस तरह के Loan के लिए कस्टमर्स को कुछ पर्सनल document submit करने होते हैं जैसे Pan Card, Adhar Card, Local Address Proof, income proof and bank Statement।
Document submit होने के बाद finance company / bank  उस कस्टमर का approval check करती है कि क्या कस्टमर  उस loan के लिए eligible है या नहीं, approval मिलने पर ही loan pas होता है। इसमें कस्टमर को interest भी pay करना होता है जोकि अलग – अलग loan के लिए अलग – अलग होता है।
Brand EMI – Brand EMI क्या है
बात करें ब्रांड emi की तो यह बैंकिंग emi की तरह ही होती है पर इसके विपरीत है। इसे हम No Extra Cost EMI के नाम से भी जानते हैं जिसका अर्थ है कि किसी भी Product की ईएमआई के लिए एक्स्ट्रा चार्ज का ना लगना अर्थात Interest part का ना लगना।
EMI Full Form-Equated Monthly Instalment, full form of emi, what is the full form of emi, emi
हालाकि Brand Emi कुछ limited products के लिए होती हैं जैसे इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स, furniture, hair transplant, Gym equipment, dental treatment,…etc.
Brand EMI को हम 0% Interest के नाम से भी जानते हैं पर आपको बता दे की वास्तव में ऐसा नहीं है इसमें भी इंट्रेस्ट लगता है पर ब्रांड और बैंक के बीच हुए agreement के तहत ये interest part, bank कस्टमर से ना लेकर ब्रांड से लेता है जिसकी वजह से customer interest part देने से बच जाता है।
उम्मीद है कि आपको हमारी ये पोस्ट जोकि EMI Full Form पर थी आपको पसंद आई होगी और साथ ही साथ हमने आपको जो  EMI Full form से related जानकारी दी है उससे आपको पूरा कॉन्सेप्ट समझ में आ गया होगा।
अगर आपको हमारी ये आर्टिकल आपको हेल्पफुल लगी हो तो इसे अधिक से अधिक लोगों तक शेयर करें
कृप्या अपनी राय हमें comment box में जरूर दें, आपको राय हमारे लिए बहोत ही important है जिससे हमें Articles लिखने सहायता मिलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here